आईपीएल 2013 में विराट कोहली और गौतम गंभीर के बीच हुई थी लड़ाई ,आखिर क्यों ?

Why was the fight between Virat Kohli and Gautam Gambhir in IPL 2013, why?



गौतम गंभीर और विराट कोहली के बीच 2013 के IPL मैच में लड़ाई हो गयी थी ,इसलिए क्योंकि ये 
दोनों कप्तान अपनी अपनी टीम को जीत दिलाना चाहते थे।

गोरखपुर समाचार ब्यूरो 
IPL 2013 मैच  में गौतम गंभीर और विराट कोहली को उनके आक्रामक रवैये के लिए जाना जाता है। दोनों ही खिलाड़ी अपनी अपनी  टीम को जिताने के लिए खून पसीना एक कर देते है। लेकिन कई बार यह आक्रामकता लड़ाई में बदल जाती है।  ऐसा ही कुछ आईपीएल 2013 में कोलकाता नाइट राइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के दोनों कप्तानों के बीच खेले गए एक मैच में देखने को मिला था। 

 इस मैच में गौतम गंभीर केकेआर टीम के कप्तान तो विराट कोहली आरसीबी टीम की कप्तानी कर रहे थे। जब केकेआर के लक्ष्मीपति बालाजी ने विराट कोहली को आउट किया था, तो गंभीर और विराट कोहली मैदान पर ही भिड़ गए थे। इसके बाद टीम के साथी खिलाड़ियों समेत अंपायरों को दोनों के बीच आना पड़ा था। अब इस भिड़ंत पर केकेआर और दिल्ली के पूर्व आईपीएल खिलाड़ी रजत भाटिया ने अपनी बात कही है। बता दें, उस मैच में रजत भाटिया केकेआर की टीम से खेल रहे थे। 

रजत भाटिया ने एशियानेट न्यूज़बल से कहा ''ऐसा तब  होता है, जब दोनों टीमों के कप्तान आक्रामक हों। वे अपनी-अपनी टीमों को जीत दिलाना चाहते हैं। दोनों की भिड़ंत के बाद भी वह सिर्फ खेल का हिस्सा था।'

उन्होंने कहा, ''इसके बाद मैंने कभी गौतम गंभीर और विराट कोहली को लड़ते नहीं देखा है। मैच की जोश में कई बार ऐसा हो जाता है, 

  इस मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान गौतम गंभीर के 59 रनों की मदद से आरसीबी के सामने 155 रन का लक्ष्य रखा था। इस लक्ष्य को आरसीबी टीम ने क्रिस गेल की 50 गेंदों पर 84 रनों की तूफानी आक्रामक पारी के दम पर 8 विकेट रहते हासिल कर लिया था। इस मैच में कोहली ने 35 रनों की पारी खेली थी।

रजत भाटिया ने इसी के साथ विराट कोहली की बतौर भारतीय टीम के कप्तान के रूप में तारीफ की। उन्होंने कहा ''टीम इंडिया के कप्तान की रनों की भूख उन्हें दुनिया बेस्ट बल्लेबाज बनाती है। उनकी इस भूख का कभी अंत नहीं होता है , वह जानते हैं कि उन्हें हमेशा परफॉर्म करना है।''

  

Post a Comment

0 Comments