भारत और चीन के बीच हिंसक झड़प लद्दाख में LAC पर भारत के 20 जवान शहीद - Violent clash between India and China

 

Violent clash between India and China: 20 Indian soldiers martyred at LAC in Ladakh


* LAC पर भारत के 20 जवान शहीद 


*सोमवार को भारत और चीन के बीच हुई थी हिंसक झड़प


भारत और चीन के बीच सोमवार को हुई थी हिंसक झङप में एक अफसर और दो जवान शहीद हो होने की 
खबर मिली थी। इसी  बीच मंगलवार को भारत के 20 जवान शहीद हुए है और चीन के 43 जवान हताहत हुए 
है ,लेकिन  यह पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है संख्या बढ़ भी सकती है। 

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक भारत और चीन के बीच इस हिंसक झङप में चीन के  43 सैनिक हताहत हुए हैं. इसमें से कुछ की मौत हो गई है और कुछ घायल  हुए हैं. बता दें कि सोमवार रात को दोनों देशों की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई थी. ये घटना तब हुई जब सोमवार रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के बीच बातचीत के बाद सबकुछ सामान्य होने की स्थिति आगे बढ़ रह थी.

इस पूरी घटना पर भारतीय सेना ने बयान जारी किया है। सोमवार यानि 15 जून को गलवान घाटी इलाके 
हिंसक झङप में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हुए है।




चीनी सीमा के इलाकों पर सेना ने की अलर्ट 

इस समय चीन और भारत सेना के बीच चल रही तनातनी के चलते हिमाचल प्रदेश से सटे  चीनी सीमा के इलाकों में अलर्ट किया गया. अलर्ट के साथ ही हिमाचल पुलिस ने सूबे की सभी खुफिया एजेंसियों को सतर्क भी किया. राज्य के जिला किन्नौर और लाहौल स्पीति में रह रहे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एडवायजरी भी जारी किया गया है।  हिमाचल के दो जिलों किन्नौर और लाहौल स्पीति के साथ चीन की सीमा लगती है। 

इससे पहले इस घटना पर विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया था कि, विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारत ने हमेशा LAC का सम्मान किया और चीन को भी ऐसा करना चाहिए. मंत्रालय ने कहा कि LAC पर कल जो हुआ उससे बचा जा सकता था. इस हिंसक झङप से दोनों देशों को नुकसान उठाना पङा है।

भारत और चीन के इस हिंसक झङप के बाद  दिल्ली में बैठकों का दौर भी शुरू हो गया. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे के साथ बैठक हुई. जहा , राजनाथ सिंह ने इस मामले की जानकारी प्रधानमंत्री मोदी जी को फोन पर दी. तो वहीं विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पीएम आवास जाकर प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात भी की। 

भारतीय सेना के जानकारी के अनुसार 

भारतीय सेना के अनुसार मंगलवार के दोपहर को भारतीय सेना के आधिकारिक बयान में कहा गया की 
. गलवान घाटी में सोमवार की रात को डि-एस्केलेशन की प्रक्रिया के दौरान भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई. इस दौरान भारतीय सेना के एक अफसर और दो जवान शहीद हो गए। 


चीन ने क्या कहा जानिए 

इस हिंसक घटना के बाद चीनी विदेश मंत्रालय का आधिकारिक बयान भी सामने आया. बीजिंग ने उलटे भारत पर ही  घुसपैठ करने का आरोप लगा रहा है। अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, बीजिंग का आरोप है कि भारतीय सैनिकों ने बॉर्डर क्रॉस करके चीनी सैनिकों पर हमला किया था. चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया कि भारत ऐसी स्थिति में एकतरफा कार्रवाई ना करे। 

Post a Comment

0 Comments