चीन, आर्थिक रूप से कमजोर जैसे "नेपाल" देशों में घुसपैठ के लिए भ्रष्ट नेताओं का करता है इस्तेमाल:

China uses corrupt leaders to infiltrate economically weaker countries such as "Nepal":



गोरखपुर समाचार ब्यूरो 

नेपाल में इन दिनों सियासी हलचल काफी तेजी से चल रहा है। नेपाल के पीएम केपी ओली अपनी सरकार बनाने की उपाय में लगे हैं। भारत के खिलाफ बयानबाजी के कारण केपी ओली अपनी ही पार्टी, नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी में बुरी तरह घिर चुके हैं। उनकी ही पार्टी के नेता उनसे इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। इसको लेकर पार्टी कमिटी की कई बार बैठकें भी आयोजित हुई हैं। फिलहाल, शुक्रवार के दिन को एक बार फिर नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की स्टैंडिंग कमिटी की बैठक को एक सप्ताह के लिए टाल दिया गया है । लेकिन इस बीच नेपाल के राजनीतिक हालात में चीन का दखल साफ देखा जा रहा है। चीन के राजदूत लगातार नेपाल की सरकार और पार्टी नेताओं के बीच सुलह के लिए बैठकें कर रहे हैं।जबकि इसको लेकर नेपाल में विरोध है लेकिन केपी ओली भारत के खिलाफ सख्त और चीन के प्रति नरम दिख रहे हैं। 

लेकिन इस बीच एक रिपोर्ट के जानकारी में इस बात का दावा किया जा रहा है चीन की नेपाल को लेकर एक खास नीति है, जिसके तहत वह चाल चल रहा है। वैश्विक अनुभव विश्लेषण की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन, आर्थिक रूप से कमजोर देशों के भ्रष्ट नेताओं को पूरी तरह इस्तेमाल कर उस देश में घुसपैठ करता है और जो नेपाल इसका साथ दे रहा है ,और चीन नेपाल का इस्तेमाल कर रहा है।  

केपी ओली पर लगा भ्रष्ट्राचार के आरोप 

 इस रिपोर्ट के मुताबिक लेखक रोलांड जैक्वार्ड ने कहा है  कि, यह नीति चीनी कंपनियों को न केवल उस देश में अपने व्यावसायिक हितों को आगे बढ़ाने में सक्षम बनाता है, जबकि चीन को उस देश की राजनीति में दखल देने का मौका भी दिलाती है।  रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि ,नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की निजी संपत्ति में पिछले कुछ सालों में वृद्धि हुई है, जिसे उन्होंने नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी के नेता के रूप में कथित रूप से विदेशों में जमा कर रखा है।

Post by -Dheeru singh

Post a Comment

0 Comments