Gorakhpur Triple Murder Case मे काल डिटेल से पता चलेगा पूर्व विधायक और ब्‍लाक प्रमुख की भूमिका


गोरखपुर के गगहा में 20 दिन के अंदर तीन लोगों की हत्या कर दहसत फैलाने वाले सन्नी और घटना के साजिशकर्ता सिंहासन यादव से पूर्व विधायक और प्रमुख के क्या संबंध हैं पुलिस इसकी जांच कर रही है। रविवार को जेल गए सिंहासन यादव से दोनों नेताओ के संबंध के बारे मे पता चला है। पुलिस अब काल डिटेल के जरिए इसे जांच कर रही है।

गत 10 मार्च को गगहा क्षेत्र में जिला पंचायत सदस्य पद के दावेदार रितेश मौर्य और 30 मार्च को दुकानदार शंभू मौर्य और उनके कर्मचारी संजय पांडेय की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना को अंजाम देने वाले सनी सिंह उर्फ भृगेंद्र, युवराज सिंह उर्फ राज थे। , 7 मई की शाम को STF की मदद से गगहा पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था। दोनों ने पूछताछ में बताया था कि नेवादा का निवासी सिगासन यादव अपराध को अंजाम देने के लिए अशल्हा मुहैया कराता था। चौंकाने वाला बात तब पता चला जब पुलिस ने सिंहासन को गिरफ्तार कर लिया और उससे पूछताछ शुरू कर दी। पूछताछ मे पूर्व विधायक और पूर्व ब्लॉक प्रमुख के साथ सिंहासन का बहुत अच्छा संबंध था।


अपराधियों के शरणार्थी के रूप में हैं पूर्व विधायक और पूर्व ब्‍लाक प्रमुख

शरणार्थी के रूप में पूर्व विधायक और पूर्व ब्लॉक प्रमुख का नाम सामने आने के बाद पुलिस के साथ ही क्राइम ब्रांच ने भी अपनी जांच तेज कर दी है।थाना प्रभारी निरीक्षक गगहा सुधीर सिंह ने बताया कि सननी और सिंहासन को शरण देने वालों के बारे में जानकारी इकट्ठा की  जा रही है। सभी के खिलाफ उचित कार्रवाई भी होगी।

सूचना देने वाला बदमाश को जेल ले जया गया

सनी और उसके साथियों को स्थानीय व्यापारियों के बारे में जानकारी देने वाले बदमाश पॉश उर्फ मोहम्मद उवाश को रविवार शाम को गगहा पुलिस ने गिरफ्तार किया था। वह हत्या के प्रयास के मामले में वांछित था। कॉल डिटेल की जांच में पता चला है कि पॉश के बदमाशों से संबंध थे।


Post a Comment

0 Comments